Connect with us

देश की प्रगति में युवा कैसे योगदान कर सकता है

youth-power-story

प्रेरणात्मक कहानी

देश की प्रगति में युवा कैसे योगदान कर सकता है

मैं इस बात से सहमत हूं कि हमारे देश के विकास में आज के युवाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है  देश की युवा शक्ति समाज की रीढ़ है  हमारे युवा ही समाज और देश को नए शिखर पर ले जाते हैं  हमारे युवा देश के वर्तमान तो है ही साथ वह भविष्य और भूतकाल के भी सेतु हैं.

समाज के आलावा देश के प्रतीक हमारे युवा उच्च महत्वाकांक्षाओं और गहन ऊर्जा से परिपूर्ण होते है  युवाओ की आंखों में अपने और देश के उज्वल भविष्य के कई तरह के इंद्रधनुषी सपने होते हैं. हमारे देश को बेहतर बनाने के अलावा राष्ट्र के निर्माण में भी युवायो का ही अमूल्य योगदान होता है.

youth-power-story

मेरा भारत महान इस स्लोगन को और भी सार्थक करने के प्रयास  युवा पीढ़ी सतत  करती रहती है  युवाओ के हाथ में ही देश के बदलाव का जिम्मा होता है यदि वह चाहे तो देश को बदल सकते है हर एक्टिविटी में वह अपना योगदान देते है और देश को उन्नति की ओर अग्रसर करते है.

देश में हो तरहे बदलाव का पूरा श्रेय हमारे युवा पीढ़ी को जाता है मतदान के माध्यम से भी हमारे युवा देश में बदलाव लाने  का प्रयास कर रहे है  कुछ व्यक्ति बदलाव के लिए शॉर्टकर्ट का तरिका आजमाते है लेकिन हमारे युवा सिर्फ और सिर्फ नित कर्म,श्रम को महत्वपूर्ण मानते है.

आज के समय में ऐसे कई युवा है जो देश की तरक्की में अपना अहम योगदान दे रहे है  लेकिन कुछ युवाओ से यह कार्य पूर्ण नहीं होगा जब तक देश के सभी युवा एकजुट नहीं हो जाते है तब तक ” मेरा भारत महान ” इस पंक्ति को सार्थक नहीं किया जा सकता है.

youth-power-story

इस पंक्ति को सार्थक करने के लिए हर युवा को अपनी तरफ से भरसक प्रयास करते हुए आगे आना होगा  हालांकि युवा पीढ़ी भष्टाचार के चलते बहुत कुछ करके भी सफल नहीं हो पाते है युवाओ को मौका देने के लिए हमें  भष्टाचार के खिलाफ पहल करनी आवशयक है.

भष्टाचार ख़त्म करने के लिए हर युवा को सबसे पहले राजनीति में सही और योग्य व्यक्ति को लाना होगा  जो युवा पीढ़ी को अग्रसर करने का प्रयास करे  भारत देश विश्व की सबसे बड़ी शक्ति बन सकता है लेकिन उसके लिए हर किसी को अपना कार्य ईमानदारी के साथ करना होगा और भष्टाचार को जड़ से ख़त्म करना होगा.

दुसरो पर आरोप लगाने से पहले हमें स्वयं को बदलना होगा क्यों की जब तक हम स्वयं को नहीं बदलेंगे तब तक हम देश की शक्ति का हिस्सा नहीं बन सकते है जब हम अपने मन से देश में बदलाव का सोचेंगे तभी हमारा देश बदलेगा  हर व्यक्ति को अपना काम ईमानदारी से करना होगा तभी उसे उसके कर्म का फल मिल सकता है.

हर व्यक्ति को अपनी योग्यता के अनुसार रोजगार मिलना चाहिए  ऐसा करने से देश में अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है साथ ही लड़कियों की योग्यता पर अधिक ध्यान देते हुए शिक्षित व्यक्ति को रोजगार के सुनहरे अवसर प्रदान हो  तभी देश तीव्र गति से प्रगति करेगा.

स्वामी विवेकानंद जी की भी यही सोच थी की वह समग्र विश्व को उत्थान की ओर ले जाना चाहते  है  समाज में आज के समय युवाओं को समाज के प्रति सोच को बदलना होगा तभी युवा देश को प्रगति की और ले जा सकेगा .

भारत देश को उन्नति की ओर अग्रसर करने के लिए युवाओ की आवश्यकता है लेकिन आज की पीढ़ी अधिक सुख सुविधाओं को देखते हुए अपना गांव-अपना देश छोड़कर दूसरी जगह जा रहे हैं जिसके चलते जिससे राष्ट्र के निर्माण में कई तरह की परेशानी आ रही है भारत देश में युवा राष्ट की शक्ति है युवाओ को अपने देश में ही रहकर राष्ट निर्माण में अपना योगदान देना चहिये ओर देश को विश्व शक्ति बनाना होगा .

Continue Reading
Advertisement
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in प्रेरणात्मक कहानी




Story of Vicky life
Story of Ravi Mangeshwar
Story of Bharatwanshi Dhillon
Story of Devendra Shah
Businessman,Nerd wallet,Tim cin,नर्डवॉलट,America Tim Chain Success Story,Success Story,America Tim Chain
Bollywood top comedian Johnny Lever Story

To Top